सतना में वोट ना करने पर आदिवासी परिवार के साथ मारपीट

सतना
मध्यप्रदेश मे सात सीटों पर मतदान जारी है। अब तक 13 .62  प्रतिशत मतदान हो चुका है।सुबह से कई घटनाएं भी सामने आई है, जहां टीकमगढ़ और बैतूल में चुनाव का बहिष्कार किया गया है वही सतना जिले में आदिवासी परिवार के साथ बीजेपी को वोट ना करने पर मारपीट का मामला सामने आया है।परिवार ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर मारपीट का आरोप लगाया है।वही इस मामले मे ंथाने में शिकायत की गई है।

घटना रामपुर थाना क्षेत्र के गौहरी गांव की बताई जा रही है।बताया जा रहा है कि वोटिंग से एक दिन पहले रविवार को बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा शराब की बोतल बांटी गई थी और बीजेपी को वोट देने को कहा गया था। इस पर पीड़ित परिवार का कार्यकर्ताओं से विवाद हो गया और उन्होंने मारपीट शुरु कर दी।परिवार का कहना है कि कुछ नकाबपोश लोगों ने उन पर हमला किया और मारपीट करने लगे। पीड़ितों ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर मारपीट का आरोप लगाया है। पीडित का कहना है कि जब उन्होंने शराब की बोतल और बीजेपी को वोट ना देने पर मना किया तो कार्यकर्ताओं ने उनसे मारपीट शुरु कर दी ।घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। फिलहाल पीडित परिवार द्वारा रामपुर थाने में शिकायत की गई है वही बीजेपी या किसी अन्य की तरफ से इस मामले में कोई प्रतिक्रिया सामने नही आई है।

वही रविवार को भाजपा प्रत्याशी का चुनाव प्रचार करने शहडोल जिले की ब्यौहारी विधानसभा से आये भाजपा विधायक शरद कोल को रविवार को रामनगर पुलिस ने हिरासत में लिया गया था। पुलिस ने भाजपा विधायक के खिलाफ आईपीसी की धारा 126 व 188 के तहत मामला दर्ज किया गया था।आरोप था कि जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सतेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को आदेश जारी कर जिले में मौजूद दूसरे जिले के पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों को शनिवार की शाम तक जिला मुख्यालय छोड़ देने के निर्देश दिए थे। बावजूद इसके भाजपा विधायक मतदान के एक दिन पूर्व रविवार को रामनगर क्षेत्र में भाजपा का खुलेआम प्रचार कर रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *