वास्तु के चक्कर में पड़ी बीजेपी, पीएम मोदी के मंच की दिशा बदल दी

ग्वालियर 
ग्वालियर में लगता है बीजेपी अंधविश्वास की शिकार हो गयी है. शायद यही वजह है कि कल यहां होने वाली पीएम नरेन्द्र मोदी की सभा में मंच की दिशा ही बदल दी गयी है. उसे डर है कि कहीं दिशा दोष लोकसभा चुनाव में पार्टी की दिशा ना बदल दे.

2018 के विधानसभा चुनाव में ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में मिली करारी हार के बाद बीजेपी अब रिस्क नहीं लेना चाहती. वो हर संभव वो सारे पैंतरे अपना रही है जो उसे चुनाव जिता सके. फिर बात चाहें वास्तु दोष या अंधविश्वास की ही क्यों ना हो. यहां रविवार 5 मई को पीएम मोदी की सभा है. अब सभा स्थल और मंच की दिशा को लेकर वो अंध विश्वास में पड़ गयी है. 

विधानसभा चुनाव में मोदीजी 16 नंबर को ग्वालियर आए थे. मेला ग्राउंड पर दक्षिण दिशा में बने मंच से मोदी ने सभा को संबोधित किया था. उस वक्त मंच पर ग्वालियर-चंबल अंचल की ग्वालियर, भिंड, मुरैना और दतिया ज़िले की सभी विधानसभा सीटों के 19 बीजेपी प्रत्याशी मौजूद थे. नतीजा आया तो उनमें से 17 प्रत्याशी चुनाव हार चुके थे. उनमें से 13 विधायक-मंत्री शामिल थे.

बस अब यही वजह है कि इस बार पीएम मोदी के लिए जो मंच बनाया जा रहा है उसकी दिशा बदल दी गयी है. अब मंच दक्षिण मुखी नहीं, बल्कि दक्षिण-पश्चिम रहेगा.हालांकि सभा के प्रभारी बीजेपी नेताओं का कहना है, ये किसी तरह का टोटका नहीं है. धार्मिक मान्यता और वास्तुशास्त्र के मुताबिक़ दिशा बदली है. सिर्फ एक विधायक जीत पाए थे.

बीजेपी के इस भय पर कांग्रेस चुटकी ले रही है कि सभा स्थल और मंच इस बार विदाई द्वार के पास बनाया गया है. इस बार चुनाव में बीजेपी की विदाई का रास्ता तय हो गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *