कोयले से भरे ट्रेलर की टक्कर से महिला की मौत आक्रोशित ग्रामीणों ने फूंका ट्रेलर, 3 घंटे चक्काजाम

बिलासपुर
 सीपत थानांतर्गत ग्राम जांजी मुख्य मार्ग पर शनिवार दोपहर कोयले से भरे ट्रेलर के चालक ने बाइक सवार दंपती को टक्कर मार दी। दुर्घटना में महिला की मौत हो गई जबकि पति गंभीर रूप से घायल हो गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने दुर्घटना के बाद ट्रेलर में आ लगा दी। ग्रामीणों ने भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगाने और मृतका के परिजनों को मुआवजा देने की मांग को लेकर ३ घंटे तक चक्काजाम किया। मुआवजा व भारी वाहनों पर रोक लगाने के आश्वासन पर ग्रामीणों ने चक्काजाम खत्म कर दिया।

सीपत पुलिस के अनुसार ग्राम दर्राभाठा निवासी हरीश श्रीवास पिता तिहारू श्रीवास श्निवार को पत्नी राही बाई श्रीवास (३५) के साथ बाइक सीजी १० सी ६६४७ में सिम्स में भर्ती रिश्तेदार को देखने जा रहे थे। दोपहर करीब डेढ़ बजे दोनों ग्राम जांजी मुख्य मार्ग पर पहुंचे थे। तभी ग्राम खांड़ा से गतौरा कोलवाशरी जा रहे कोयले से भरे ट्रेलर सीजी १० सी ९९९६ के चालक ने तेज एवं लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए बाइक को पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर लगने पर हरीश सड़क किनारे गिर गया और राही बाई बीच सड़क में गिर पड़ी। ट्रेलर के चालक ने उसे रौंद दिया। दुर्घटना में राही की मौके पर मौत हो गई। वहीं हरीश घायल हो गया।

दुर्घटना के बाद आरोपी चालक ट्रेलर छोड़ कर भाग गया। दुर्घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रेलर में आग लगा दी। ग्रामीणों ने मृतका के परिजनों को मुआवजा देने और भारी वाहनों का आवागमन बंद करने की मांग को लेकर जांजी मुख्य मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। दुर्घटना, चक्काजाम और आगजनी की सूचना मिलने पर कोतवाली सीएसपी विश्वदीपक त्रिपाठी मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को शांत कराया और जल रहे ट्रेलर में पानी डलवाकर आग बुझाई। उन्होंने ग्रामीणों को चक्काजाम खत्म करने करने कहा, लेकिन ग्रामीण मुआवजा और जांजी मार्ग पर भारी वाहनों का प्रवेश बंद करने की मांग को लेकर अड़े रहे।

आग नहीं बुझी तो मंगवानी पड़ी दमकल 

लोगों की मदद से आग बुझाने के प्रयास के बाद भी ट्रेलर का केबिन सुलग रहा था। पुलिस ने आग बुझाने के लिए नगर सेना के दमकल कर्मियों को बुलवाया। एक घंटे के बाद मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने ट्रेलर में लगी आग बुझाई।

दुर्घटना में मृतका का शव कई टुकड़ों में बंटा 

ट्रेलर की टक्कर लगने और पहियों के बीच फंसने के बाद भी आरोपी चालक ट्रेलर को तेज रफ्तार से चलाता रहा। मृतका पहियों के बीच फंसकर ***** गई और उसके शव कई टुकड़ों में बंट गए। घटना के बाद शव को उठाने में पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी। 

परिजनों को १० हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि दी 

दोपहर २ बजे से ग्रामीण सड़क पर प्रदर्शन करते रहे। सड़क के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। शाम करीब ५ बजे सीएसपी विश्वदीपक ने नायब तहसीलदार राजकुमार साहू को दुर्घटना की सूचना देकर मौके पर बुलवाया। नायब तहसीलदार ने मृतका के परिजनों को तत्काल सहायता राशि १० हजार रुपए दिया, लेकिन ग्रामीण ५० हजार रुपए मुआवजे की मांग पर अड़े रहे। नायब तहसीलदार ने ग्रामीणों को बताया कि सोमवार को तहसील कार्यालय से उन्हें १५ हजार रुपए और मुआवजा राशि मिलेगी। साथ ही उन्होंने जांजी मार्ग पर भारी वाहनों पर प्रतिबंध लगाने के लिए कलेक्टर को प्रतिवेदन भेजने की बात कही। उनके आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने चक्काजाम खत्म कर दिया। चक्कजाम खुलने के बाद भीड़ में फंसे लोग गंतव्य के लिए रवाना हुए। 

पुलिस ने दर्ज किया अपराध 

मामले में पुलिस ने ट्रेलर चालक के खिलाफ भादवि की धारा २७९, ३३७, ३०४ (ए) के तहत अपराध दर्ज किया। देर रात तक पुलिस चक्काजाम करने और ट्रेलर में आग लगाने वालों की नामों की सूची बनाती रही। चक्काजाम और आगजनी करने वालों के खिलाफ भी पुलिस अपराध दर्ज करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *