कैंसर से जंग लड़ते मनोहर पर्रिकर ने उद्घाटन समारोह में पूछा- How’s the Josh

 
पणजी      
   
पैंक्रियास कैंसर की एडवांस स्टेज में पहुंचे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर रविवार को एक उद्घाटन समारोह में दिखे. पर्रिकर मांडोवी नदी पर एक केबल ब्रिज के उद्घाटन कार्यक्रम में शरीक हुए जिसमें उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी शामिल थे. कार्यक्रम में पर्रिकर ने फिल्म उरी का डायलॉग-हाउ इज द जोश दोहराया और लोगों में जोश भर दिया. अभी हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई में एक कार्यक्रम में यह डायलॉग दोहराया था.

रविवार को 5.1 किमी लंबे जिस पुल का उद्घाटन हुआ उसका नाम अटल सेतु है. इस पुल के शुभारंभ पर गडकरी, पर्रिकर और आयुष मंत्री श्रीपद नाइक मौजूद थे. इस कार्यक्रम में गोवा के भी कई राज्य मंत्री शिकरत कर रहे थे. पणजी को उत्तर गोवा से जोड़ने वाला यह पुल तीसरा पुल है. कार्यक्रम में डिफेंस कैप और नाक में नली लगाए पहुंचे पर्रिकर (63) ने लोगों को जोश से भर दिया जब उन्होंने फिल्म उरी का डायलॉग दोहराया और पूछा हाउ इज द जोश.

अभी हाल में प्रधानमंत्री ने भी यह डायलॉग बोला था. रविवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बेंगलुरु में एक सिनेमा हॉल में उरी फिल्म देखी और हाउ इज द जोश डायलॉग बोलते हुए एक वीडियो पोस्ट किया. उधर गोवा में पर्रिकर ने सभा में कहा, 'हाउ इज द जोश, हाउ इज द जोश, हाउ इज द जोश…मैं यह जोश आपमें भर रहा हूं और आप से बात कर रहा हूं.' पिछले एक साल में पर्रिकर की यह पहली रैली थी जब से वे मुंबई में अस्पताल में भर्ती हुए थे.

 
पर्रिकर 2018 से अबतक दिल्ली, मुंबई और अमेरिका में इलाज करा चुके हैं. बीते 14 दिसंबर को वे दिल्ली एम्स से डिस्चार्ज होने के बाद गोवा के अपने घर में आराम कर रहे हैं. हालांकि मुख्यमंत्री पद पर वे बने हुए हैं और दफ्तर के सभी काम निपटा रहे हैं. तबीयत खराब होने के बाद कई महीने तक वे मुख्यमंत्री दफ्तर नहीं गए. पिछले साल कुछ मौकों पर प्रदेश सचिवालय गए लेकिन किसी जनसभा में उन्होंने हिस्सा नहीं लिया था.   

कार्यक्रम में पर्रिकर को देख लोग खुश हुए और उनके जज्बे की तारीफ की. मांडवी नदी पर बने पुल को पर्रिकर का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जाता है. सोशल मीडिया पर अपने एक छोटे से पोस्ट में उन्होंने गोवा के विकास प्रोजेक्ट का विरोध करने वालों को आड़े हाथ लिया. पर्रिकर ने कहा, 'एयरपोर्ट के लिए विरोध तो है ही, लोग कचरा प्लांट बनाने का भी विरोध कर रहे हैं. मेरे खयाल से गोवा के लिए लोगों को पॉजिटिव होना चाहिए.' अटल सेतु से पणजी में भीड़भाड़ कम होगी और इस पुल से हर साल 66 हजार गाड़ियां पार होंगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभी हाल में पर्रिकर को आधुनिक गोवा का शिल्पकार बताया और उनके ठीक होने की कामना की. मोदी ने एक वीडियो कांफ्रेंस में गोवा के एक पार्टी कार्यकर्ता के एक सवाल के जवाब में कहा, "मैं अपने सबसे अच्छे मित्र के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं और बीमार होने के बावजूद काम के प्रति उनके समर्पण को मैं सलाम करता हूं." पर्रिकर एडवांस्ड पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *