उच्च शिक्षा के सतत विकास के लिये स्वयं का मापदंड निर्धारित करें-उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी

 भोपाल
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि उच्च शिक्षा के सतत विकास के लिये स्वयं का मापदंड निर्धारित करना आवश्यक है। शिक्षा समाज का अभिन्न अंग है। उच्च शिक्षा के समुचित विकास के बिना प्रदेश और देश का विकास असंभव है। मंत्री श्री पटवारी दो दिवसीय एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज सेन्ट्रल जोन वाइस चांसलर्स मीट-2018-19 का रवीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय में शुभारंभ कर रहे थे।

उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि उच्च शिक्षा के सतत विकास के लिये नये पैमाने तय करना होंगे, जिसमें प्रशिक्षण, अनुसंधान और विस्तारण प्रमुख है। देश और शिक्षा के भविष्य को आगे बढ़ाने के लिये परम्परागत शिक्षा प्रणाली के साथ आधुनिक व्यवस्थाओं को भी जोड़ना महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर श्री पटवारी ने 'यूनिवर्सिटी न्यूज' पत्रिका का विमोचन किया। दो दिवसीय आयोजन में ग्लोबल एण्ड नेशनल रैकिंग इन हायर एजुकेशन, सिनारियो ऑफ रिसर्च इन इंडियन यूनिवर्सिटी तथा क्वालिटी एश्योरेंस फॉर एक्सीलेंस एण्ड रेटिंग ऑफ हायर एजुकेशन पर विस्तृत चर्चा होगी।

इस अवसर पर रवीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री संतोष चौबे, ए.आई.यू. के अध्यक्ष प्रो. संदीप संचेती, कुलपति आर.एन.टी.यू. प्रो. ए. के. ग्वाल उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *